उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना 2021 | Mukhyamantri Ghasyari Kalyan Yojana

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना 2021 की शुरुआत हो चुकी है जिसके तहत उन लोगों को लाभ मिलेगा, जिन्हें अपने पशुओं के लिए पर्वतीय क्षेत्रों में घास लाने के लिए जाना पड़ता है। जो लोग पर्वतीय क्षेत्र में निवास करते हैं उनका जीवन बहुत ही कठिन होता है, क्योंकि उन्हें खाना बनाने के लिए लकड़ी तथा पशुओं के भोजन के लिए भी चारे लाने के लिए जंगल की तरफ जाना पड़ता है।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना

इस तरह के कार्य पर्वतीय क्षेत्रों में अधिकतर महिलाएं करती है जिस वजह से उनकी जान जोखिम में रहता है। इसी को देखते हुए उत्तराखंड की सरकार ने मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना की शुरुआत की है ताकि जिन महिलाओं को मजबूरन खुद की जान जोखिम में डालना पड़ता है वो सुरक्षित रह सके।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के तहत एक लाख से ज्यादा लाभार्थियों को फायदा मिलेगा, जिसमे अधिकतर महिलाएं शामिल होंगी। क्योंकि पहाड़ी क्षेत्र में पशुओं के लिए घास लाने तथा खाना बनाने के लिए जलावन का इंतजाम करने जैसे कार्य अधिकतर महिलाओं को ही करना पड़ता है।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना 2021 | Mukhyamantri Ghasyari Kalyan Yojana

योजना का नाम मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना 2021
राज्य उत्तराखंड
शुरू कब हुई अक्टूबर 2021
लाभार्थी राज्य की महिलाएं
उद्देश्य पशुओं के लिए चारे का इंतजाम करवाना
आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन
ओफ्फिसिल वेबसाइट uk.gov.in

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना क्या है?

मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना की शुरुआत उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह ने की है। जिसके अंतर्गत राज्य के पर्वतीय क्षेत्र में रहने वाले लोगों को पशुओं के लिए चारा तथा पौष्टिक आहार उपलब्ध करवाया जाएगा, लेकिन इस के लिए उन्हें सिर्फ 3 रुपये प्रति किलो की दर से पैसे भुगतान करने होंगे।

उत्तराखंड के जितने भी लोग पर्वतीय क्षेत्र में रहते हैं उन्हें Mukhyamantri Ghasyari Kalyan Yojana 2021 का पूरा लाभ मिलेगा। इस स्कीम की वजह से पशुओं के लिए लोगों को जंगल से चारे लाने की कोई जरुरत नहीं पड़ेगी, क्योंकि उन्हें सरकार की तरफ से तीन रुपये प्रति किलो की दर से चारा मिल जाएगा।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना का उद्देश्य

उत्तराखंड सरकार ने मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना को इस उद्देश्य से शुरू किया है ताकि पशुओं के लिए चारा उपलब्ध करवाया जा सके। इस योजना के माध्यम से उन लोगों को लाभ दिया जाएगा जो ग्रामीण या पर्वतीय क्षेत्र में रहते हैं तथा पशुओं के लिए दूर जंगल में चारा लाने के लिए जाते हैं।

जैसा कि हमने ऊपर भी कहा है कि पर्वतीय क्षेत्र में अधिकतर महिलाएं पशुओं के लिए जंगल से चारा लाने के लिए जाती है, इस वजह से उनका जान भी जोखिम रहता है। क्योंकि जंगल में बहुत सारे जंगली जानवार होते हैं जो कई बार लोगों पर हमला कर देते हैं। इसी वजह से सरकार ने मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना को चालू किया है ताकि उनके राज्य की महिलाएं सुरक्षित रहे।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के लाभ

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के माध्यम से ग्रामीण व पर्वतीय क्षेत्रों में रहने वाले खासकर महिलाओं को इसका लाभ मिलेगा। अब सवाल आता है कि इस योजना के क्या-क्या फायदे हैं उसके बारे में नीचे बताया गया है :-

  • इस योजना को उत्तराखंड सरकार ने शुरू किया है जिस वजह से उसी राज्य के लोगों को इसका लाभ मिलेगा।
  • इस योजना का लाभ सिर्फ ग्रामीण व पर्वतीय क्षेत्रों के लोगों को मिलेगा।
  • इस योजना की वजह से महिलों को जंगल नहीं जाना पड़ेगा, जिस वजह से उनके समय की बचत होगी।
  • इस योजना की वजह से पशुओं के लिए महिलाओं को जंगल से चारा लाने की जरुरत नहीं पड़ेगी।
  • इस योजना के अंतर्गत 3 रुपये प्रति किलो की दर से पशुओं के लिए चारा उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के तहत पशुओं के लिए पौष्टिक आहार भी उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • इस योजना के तहत सस्ती दरों पर चारा व पौष्टिक आहार उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से जो चारा उपलब्ध करवाया जाएगा, वो पौष्टिक आहार, पैकेज साइलेज व टोटल मिक्स्ड होगा।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना की विशेषताएं

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना की कुछ विशेषताएं भी है, जिसके बारे में हर किसी को इसके बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए। जिसके बारे में हमने नीचे बताया है :-

  • इस योजना की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि सभी लाभार्थियों को सब्सिडी के आधार पर पशुओं के लिए चारा दिया जाएगा।
  • इस योजना के तहत लाभार्थियों को जो चारा उपलब्ध करवाया जाएगा, वो कटा हुआ होगा।
  • इस योजना का लाभ उत्तराखंड के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को मिलेगा।
  • इस योजना की वजह से लाभार्थियों के समय की बचत होगी।
  • जब लाभार्थियों के समय में बच होगी तो उस दौरान को अन्य कार्य कर पाएंगे।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना की पात्रता

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना एक बेहतरीन स्कीम है, लेकिन अब लाभार्थियों के मन में प्रश्न आ सकता है कि इसकी पात्रता क्या है? मतलब कौन-कौन इस योजना के लिए आवेदन कर सकता है इसके बारे में हमने नीचे बताया है :-

  • लाभार्थी उत्तराखंड का निवासी होना चाहिए।
  • लाभार्थी ग्रामीण क्षेत्र का होना चाहिए।
  • लाभार्थी के पास पशु होना चाहिए।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के लिए दस्तावेज

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना का फायदा उठाने के लिए लाभार्थियों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। लेकिन उससे पहले प्रश्न यह आता है कि आवेदन के दौरान हमें कौन-कौन से दस्तावेज की आवश्यकता पड़ेगी। उसके बारे में नीचे जानकारी दी गई है :-

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • पहचान पत्र
  • राशन कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना आवेदन कैसे करें?

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना की शुरुआत तो कर दी गई है, लेकिन फिलहाल इस के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है। इस वजह से आपको थोड़ा इंतजार करने की जरुरत है। जब इस स्कीम के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू होगी तब हम इस लेख को अपडेट कर देंगे।

मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना से जुड़ी सवाल व जवाब (FAQ)

क्या अब आपके मन में भी उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना से जुड़ी कोई सवाल आ रहा है? तो आपको चिंता करने की जरुरत नहीं है, क्योंकि हमने नीचे इससे संबंधित कुछ प्रश्नों के उत्तर दिए हैं जो आप के लिए महत्वपूर्ण हो सकता है .इस वजह से आप उसे जरुर पढ़िए :-

Q: मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना क्या है?

उत्तराखंड सरकार द्वारा घस्यारी कल्याण योजना का संचालन किया जा रहा है, जिसके अंतर्गत तीन रुपये प्रति किलो की दर से पशुओं के लिए चारा उपलब्ध करवाया जाता है।

Q: मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना की शुरुआत कब हुई?

मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना की शुरुआत अक्टूबर 2021 को हुई।

Q: मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना की शुरुआत किसने की है?

इस योजना की शुरुआत उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने की है।

Q: मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना का लाभ किसे मिलेगा?

इस योजना का लाभ उत्तराखंड के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को मिलेगा।

Leave a Comment